Sukanya Samriddhi Yojana: सुकन्या समृद्धि योजना से बेटियों को मिलेंगे एक साथ 74 लाख रूपए

भारत सरकार द्वारा सदैव यह प्रयास किया जाता है कि देश के सभी गरीब परिवारों को आर्थिक समस्या का सामना न करना पड़े। खासकर महिलाओं तथा बेटियो के ऊपर सबसे अधिक ध्यान दिया जाता है इसीलिए सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना का संचालन किया जा रहा है। बता दे इस योजना के अंतर्गत देश की बेटी के भविष्य को उज्वल बनाने के लिए बचपन से ही उसके माता पिता की सहायता की जाती है।

बता दे इस योजना के अंतर्गत बचपन से ही बच्ची के लिए माता पिता के द्वारा निवेश किया जाता है। फिर वह लड़की उन पैसों से अपनी उच्च शिक्षा या आत्मनिर्भर बन सकती है। तो यदि आपने भी अपना मन बना लिया है कि अब आप भी सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से अपनी बेटी का भविष्य उज्जवल बनाना है तो योजना का लाभ कैसे ले सकते है इसकी सम्पूर्ण प्रक्रियाइस लेख में दी गई है, ऐसे में आप लेख की अंत तक पूरा अवश्य पढ़ें।

Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से देश की बेटी को सशक्त बनाने के लिए कार्य किया जाता है। जिसके लिए योजना के अंतर्गत बच्ची के माता पिता तथा सरकार द्वारा मिलकर प्रयास किए जाते है। बता दे योजना के अंतर्गत एक खाता खोला जाता है जिसमे निवेश करने की आवश्यकता पड़ती है। बता दे सरकारी बैंक होने के कारण निवेश किए हुए पैसे पूरी तरह सुरक्षित रहते है।

इसके अलावा अन्य एफडी स्कीम के मुकाबले सुकन्या समृद्धि खाते में ज्यादा ब्याज दर के अधार पर निवेश की हुई राशि में वृद्धि होती रहती है। तो यदि आपकी भी है तो उसके भविष्य की उज्ज्वल बनाने के लिए आपको इस योजना के अंतर्गत अवश्य खाता खुलवाना चाहिए। यहां पर हमने योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने की सम्पूर्ण प्रक्रिया के साथ साथ योजना के लाभ, पात्रता, दस्तावेज आदि जानकारी भी सांझा की हुई है। ऐसे में आपके लिए इस लेख को पढ़ना अत्यंत आवश्यक है।

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए पात्रता मानदंड

जैसा कि आप इस बात से भलीभांति अवगत होंगे कि सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने के लिए उम्मीदवार को निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करने की अवश्यकता पड़ती है। ठीक इसी प्रकार सुकन्या समृद्धि योजना के लिए भी पात्रता मानदंड निर्धारित किए गए है, जो की निम्नानुसार प्रस्तुत है।

  • सबसे पहले तो योजना के लिए सिर्फ भारत के मूल निवासी माता पिता ही अपनी बच्ची के लिए पात्र माने जायेंगे।
  • 10 वर्ष की आयु सीमा तक की बच्ची के नाम से ही माता पिता द्वारा खाता खोला जा सकता है। बता दे न्यूनतम आयु सीमा का निर्धारण नही किया गया है, यानी 1 दिन की बच्ची के नाम से भी खाता खुलवाया जा सकता है।
  • एक परिवार से सिर्फ दो खाते ही खुलवाए जा सकते है, यदि पहली दो बच्ची जुड़वा है और फिर एक और बेटी रहेगी, तो ऐसी स्थिति में 3 खाते खोले जा सकते है।

सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ

  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत निवेश की गई राशि करमुक्त रहती है, बता दे कर में कटौती का प्रावधान योगदान आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत रखा गया है।
  • अन्य बचत खातों की तुलना में सुकन्या समृद्धि खाते में निवेश की हुई राशि में अधिक ब्याज दर से वृद्धि होती है।
  • बेटी की शादी, उच्च शिक्षा या उसे आत्मनिर्भर बनाने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना अत्यंत लाभकारी योजना है।
  • पिता वार्षिक तौर पर अपनी बेटी के लिए न्यूनतम निर्धारित राशि का निवेश कर सकता है, बता दे आप 250 रूपए से 10 हजार रूपए की राशि का निवेश कर सकते है।

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • बेटी का जन्म प्रमाण पत्र
  • माता और पिता दोनों के अधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • मूल निवासी प्रमाण पात्र
  • बालिका तरह माता पिता की तस्वीरे

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता कैसे खोले?

  • सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी डाकघर में जाना होगा।
  • फिर वहां पर आपको सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अपनी बेटी के नाम पर खाता खोलने के लिए अनुरोध करना होगा।
  • इसके बाद आपको पोस्ट ऑफिस के अधिकारी के पद योजना के आवेदन पत्र को भरकर उसमें आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करके जमा करना है।
  • बता दे आप इस योजना के अंतर्गत किसी भी सरकारी बैंक में जाकर आवेदन पत्र जमा करके खाता खुलवा सकते है। लेकिन पोस्ट ऑफिस में आपके लिए खाता खुलवाना ज्यादा सुविधाजनक रहेगा।

यहां पर हमने देश की बेटी का भविष्य उज्जवल बनाने वाली योजना के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जानने को मिली। जैसा कि आपको पता ही है कि योजना का नाम सुकन्या समृद्धि योजना है, यहां पर माता पिता अपनी बच्ची को भविष्य में सशक्त बनाने के लिए किस प्रकार से इस योजना का लाभ ले सकते है। इसकी सम्पूर्ण इस लेख में हमे जानने को मिली।

Leave a Comment

Join Whatsapp